Rail News

बिहार के 15 रूटों पर तेजस और वंदे भारत ट्रेनें चलाने की तैयारी

भारत में अभी 3 मार्गो पर प्राइवेट ट्रेने चलाई जा रही है जिसमे 2 मार्गो पर तेजस और एक मार्ग पर कुछ दिनों पहले ही शामिल हुई काशी महाकाल एक्सप्रेस यात्रियों को अपनी सेवाएं दे रही है। तेजस के प्रति बढ़ते रुझान को देखते हुए भारत सरकार इस बार के रेल बजट में पहले ही और तेजस ट्रेने चलने की घोषणा कर चुकी है , बिहार के लोगो को भी रेल मंत्रालय से बहुत उम्मीदें है और आने वाले समय में बिहार को ढेर साडी खुशखबरी मिल सकती है। सबकुछ ठीक रहा तो शीघ्र ही पटना से होकर तेजस व वंदे भारत(Tejas express & Vande Bharat in Bihar) समेत अन्य लक्जरी ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाएगा। नीति आयोग ने रेलवे को बिहार से गुजरने वाले 15 रूटों पर नई ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव दिया है। इनमें से कुछ रूटों पर हाई स्पीड ट्रेनें भी चलाने पर मंथन चल रहा है।

नीति आयोग ने देश में निजी ट्रेनों के परिचालन का प्रस्ताव दिया है
नीति आयोग से देश के 100 रेल रूटों पर 150 से अधिक निजी ट्रेनों का परिचालन प्रस्तावित है। इस प्रस्ताव पर भारतीय रेलवे की तरफ से शीघ्र ही हरी झंडी मिलने की उम्मीद है। रेल मंत्रालय से हरी झंडी मिलते ही रेलवे की ओर से टेंडर निकाला जाएगा। आपको बता दे की फ़िलहाल भारत में प्राइवेट ट्रेनों का परिचालन सिर्फ आईआरसीटीसी के द्वारा ही किया जा रहा है लेकिन आने वाले समय में कई निजी कंपनिया भी इसमें शामिल हो सकती है। निजी कंपनियों में रिलायंस, अडानी, टाटा व अन्य बड़ी कंपनियां अब आइआरसीटीसी को निजी ट्रेनों के परिचालन में सीधे टक्कर देने के मूड में नजर आ रही है।

बिहार में निजी ट्रेनों के परिचालन की बात करे तो बिहार से होकर गुजरने वाले 15 रूटों पर ट्रेनों के परिचालन का प्रस्ताव रखा गया है। पूर्व-मध्य रेल जोन के विभिन्न स्टेशनों से दर्जनों निजी ट्रेनों के चलाने का प्रस्ताव है। सबकुछ ठीक रहा तो इन रेल रूटों पर शीघ्र ही तेजस व वंदे भारत जैसी लक्जरी ट्रेनें चलने लगेंगी। इससे बड़े शहरों में जाने के लिए यातायात का मार्ग सुगम होगा। पूर्व-मध्य रेल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया की यात्रियों को बेहतर सुविधा व तेज गति से गंतव्य तक पहुंचाने के लिए आनेवाले समय में कुछ रेलरूटों पर प्राइवेट ट्रेन चलाने की अनुमति दी जा सकती है। इसके लिए केंद्र से पूर्व-मध्य रेल के पास भी भी कुछ रेलरूटों पर इन ट्रेनों के परिचालन के लिए प्रस्ताव आया है। उन्होंने कहा की हालांकि अभी तक इस मामले में कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है।

बिहार के 15 रूटों पर चलेगी तेजस और वंदे भारत ट्रेन
(Preparations for running Tejas and Vande Bharat trains on 15 routes of Bihar)
बिहार में निजी ट्रेनों के परिचालन की बात करे तो बिहार से होकर गुजरने वाले 15 रूटों पर ट्रेनों के परिचालन का प्रस्ताव रखा गया है। पूर्व-मध्य रेल जोन के विभिन्न स्टेशनों से दर्जनों निजी ट्रेनों के चलाने का प्रस्ताव है। सबकुछ ठीक रहा तो इन रेल रूटों पर शीघ्र ही तेजस व वंदे भारत जैसी लक्जरी ट्रेनें चलने लगेंगी। इससे बड़े शहरों में जाने के लिए यातायात का मार्ग सुगम होगा। पूर्व-मध्य रेल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया की यात्रियों को बेहतर सुविधा व तेज गति से गंतव्य तक पहुंचाने के लिए आनेवाले समय में कुछ रेलरूटों पर प्राइवेट ट्रेन चलाने की अनुमति दी जा सकती है। इसके लिए केंद्र से पूर्व-मध्य रेल के पास भी भी कुछ रेलरूटों पर इन ट्रेनों के परिचालन के लिए प्रस्ताव आया है। उन्होंने कहा की हालांकि अभी तक इस मामले में कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है।

बिहार में इन रूटों पर निजी ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव का रस्ता हो सकता है साफ (Proposal to run private trains on these routes in Bihar)

  • पटना-हदसर-पटना (PATNA-HADSAR-PATNA)
  • उधना-पटना-उधना (UDHNA-PATNA-UDHNA)
  • इंदौर-दानापुर-इंदौर (INDORE-DANAPUR-INDORE)
  • नई दिल्ली – पटना (NEW DELHI-PATNA)
  • गया-आनंदविहार (GAYA- AANANDVIHAR)
  • पनवेल – पटना (PANWEL-PATNA)
  • दरभंगा-जोगेश्वरी (DARBHANGA-JOGESHWARI)
  • पाटलिपुत्र- तिरुचिरापल्ली (PATLIPUTRA- TIRUCHIRAPALLI)
  • कटिहार – तिलकब्रिज (KATIHAR – TILAKBRIDGE)
  • किशनगंज-तिलकब्रिज (KISHANGANJ- TILAKBRIDGE)
  • बरौनी आनंदविहार (BARAUNI- AANANDVIHAR)
  • हावड़ा-पटना (HAWRAH –PATNA)
  • आनंदविहार-छपरा (AANANDVIHAR –CHHAPRA)
  • आनंदविहार दरभंगा (AANANDVIHAR-DARBHANGA)
  • आनंदविहार भागलपुर (AANANDVIHAR-BHAGALPUR)

निजी ट्रेनों के परिचालन में यात्रियों को मिलेंगी ये सुविधाएं
(Services offered in Private trains of India)

  • यात्रियों को इन निजी गाड़ियों में ऑनबोर्ड इंफोटेनमेंट की सुविधा प्रदान की जायगी जिसमे वे बिना किसी रुकावट के मनोरंजन का लुत्फ़ उठा सकेंगे.
  • यात्रियों को यात्रा के दौरान ट्रेन में शुद्ध खाना व स्वादिष्ट लजीज व्यंजन परोसे जायेंगे
  • यात्री की दुर्घटना में मृत्यु होने पर 25 लाख तथा सामान चोरी होने पर मिलेगा 1 लाख तक का मुआवजा
  • ट्रेन टिकट की बुकिंग केवल इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन की वेबसाइट से होगी
  • ट्रेन के विलंब होने की इस्थिति में एक घंटे पर 100 रुपये तथा दो घंटे से अधिक विलंब होने पर यात्रियों को 250 रुपये मुआवजे के रूप में दिए जाएंगे.
  • नीति आयोग के इस प्रस्ताव के बाद पूर्व मध्य रेलवे के अंतर्गत आने वाले स्टेशनो पर तेजस और वंदे भारत जैसे हाई स्पीड ट्रेन से बिहार और इसके पास के राज्यों के यात्रियों की यात्रा सुगम होगी। बिहारवासी भी उम्मीद कर रहे है की जल्द से जल्द बिहार के रेल रूटों पर सुविधा बहाल हो जाये अब ये देखना दिलचस्प होगा की कितने समय में पूर्व मध्य रेलवे अपने यात्रियों को ये तोहफा ये तोहफा दे पाता है।

    Recent Post

    Indian Railways Steps Out to Feed Poor People in India
    Indian Railways Steps Out to Feed Poor People in India
    लॉकडाउन से सारे ट्रेन हुए कैंसिल! जानिए रिफंड चेक करने का ऑनलाइन तरीका
    लॉकडाउन से सारे ट्रेन हुए कैंसिल! जानिए रिफंड चेक करने का ऑन...
    COVID-19 Test Centers across India: Get your Health Checkup Done
    COVID-19 Test Centers across India: Get your Health Checkup...

    Top Categories

    Author: Rohit Choubey


    Rohit is an avid blogger as well an eminent digital marketeer. He has immense passion towards food blogging. His hobbies include travelling, cooking and watching movies. He is the content analyst for RailMitra.